State Bank of India
 

हमेशा

अपने कंप्यूटर को
मालवेयर से सुरक्षित रखें

 

हमेशा

अपने पासवर्डों को
आवधिक रूप से बदलते रहें

 

कभी नहीं

आपके पासवर्ड मांगने वाले
किसी कम्यूनिकेशन का उत्तर

 

कभी नहीं

अपने पासवर्ड या कार्ड विवरण
किसी से शेयर करना

आपकी अपनी सुरक्षा के लिए

OnlineSBI में लॉगिन करने से पूर्व कृपया निम्नलिखित को सुनिश्चित करें

  • आपका ब्राउजर एड्रेस बार URL "https" से आरंभ हो रहा है
  • एड्रेस या स्टेटस बार पैडलॉक चिह्न दर्शा रहा है
  • सुरक्षा प्रमाणपत्र देखने तथा सत्यापित करने के लिए पैडलॉक पर क्लिक करें
  • एड्रेस बार हरे रंग का हो जाना यह बताता है कि साइट एसएसएल प्रमाणपत्र के साथ सुरक्षित है और विस्तृत प्रमाणीकरण मानक को पूरा करती है।
  • (एसएसएल आईई 7.0 और उससे ऊपर, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स 3.1 और उससे ऊपर, ओपेरा 9.5 और उससे ऊपर, सफारी 3.5 और उससे ऊपर, गूगल क्रोम के लिए सुसंगत है।)

फ़िशिंग हमलों से सावधान

  • फ़िशिंग धोखाधड़ी का एक प्रयास है जो आमतौर पर ईमेल, फोन कॉल, एसएमएस आदि के माध्यम से आपकी व्यक्तिगत और गोपनीय जानकारी मांग कर की जाती है।
  • स्टेट बैंक या उसका कोई प्रतिनिधि आपकी व्यक्तिगत जानकारी, पासवर्ड या वन टाइम एसएमएस (उच्च सुरक्षा) पासवर्ड प्राप्त करने के कभी भी आपको ईमेल/एसएमएस नहीं भेजता है या फोन पर कॉल नहीं करता है। ऐसा कोई भी ई-मेल/एसएमएस या फोन कॉल इंटरनेट बैंकिंग के जरिए धोखे से आपके खाते से पैसे निकालने की कोशिश है। ऐसे ईमेल/एसएमएस या फोन कॉल का कभी जवाब न दें। यदि आपको ऐसा कोई ईमेल/एसएमएस या फोन कॉल प्राप्त होता है तो कृपया report.phishing@sbi.co.in पर तुरंत रिपोर्ट करें। यदि आपने गलती से अपनी जानकारी शेयर की है तो कृपया अपने यूजर एक्सेस को तुरंत लॉक करें। लॉक करने के लिए यहां क्लिक करें ।

"लॉगिन जारी रखें" बटन पर क्लिक करके आप एसबीआई इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने की सेवा संबंधी शर्तों (नियम और शर्तों) से सहमत हैं।

 

कृपया

समय-समय पर अपना
पासवर्ड बदलें.

 

कृपया

मैलवेयर से हमेशा अपने कंप्यूटर को
मुक्त रखें.

 

कभी नहीं

आपके पासवर्ड मांगने वाले
किसी कम्यूनिकेशन का उत्तर

 

कभी नहीं

अपने पासवर्ड या कार्ड विवरण
किसी से शेयर करना

अपनी खुद की सुरक्षा के लिए

लॉग इन करने से पहले निम्नवत सुनिश्चित करें

  • आपके  इंटरनेट ब्राउज़र के एड्रेस बार में यूआरएल "https" के साथ शुरू होता है. 'https' के अंत में अक्षर 's'  का अर्थ 'सुरक्षित' है.
  • वेब पेज के डिस्प्ले क्षेत्र के भीतर एड्रेस बार या स्टेटस बार (ज्यादातर एड्रेस बार में) में ताले का प्रतीक चिह्न को  देखें. ताले पर क्लिक करके सुरक्षा प्रमाणपत्र सत्यापित करें.
  • एड्रेस बार का हरे रंग में बदल जाना यह दर्शाता है कि साइट SSL प्रमाणपत्र के साथ सुरक्षित है एवं Extended Validation Standard के मानक को पूरा करती है. (आईई 7.0 और ऊपर, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स 3.1 और ऊपर, ओपेरा 9.5 और ऊपर, सफ़ारी 3.5 और ऊपर , गूगल क्रोम  में उपलब्ध).
  • किसी भी पॉप अप विंडो में लॉग इन ना करें एवं अन्य संवेदनशील जानकारी  भी दर्ज न करें.

फ़िशिंग हमलों से सावधान

  • फ़िशिंग आम तौर पर ईमेल, फोन कॉल, एसएमएस आदि के माध्यम से किए जानेवाला धोखाधड़ी का प्रयास है  जिसमें  ग्राहकों की व्यक्तिगत और गोपनीय जानकारी की मांग की जाती है.
  • स्टेट बैंक या उसका प्रतिनिधि आपकी व्यक्तिगत जानकारी, पासवर्ड या वन टाइम  पासवर्ड (ओटीपी)  प्राप्त करने के लिए आपको फोन कॉल या किसी भी तरह का  ईमेल /एसएमएस नहीं भेजता है॰ ऐसी कोई भी e-mail/SMS या फोन कॉल धोखे से इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से आपके  खाते से पैसे निकालने का एक प्रयास है. इस तरह के ईमेल / एसएमएस या फोन कॉल का जवाब कभी न दें.  यदि आपको ऐसे ईमेल / एसएमएस या फोन कॉल प्राप्त  होते हैं, इसे पर तुरंत रिपोर्ट करें. अगर  उपरोक्त जानकारी आपने गलती से  किसी को बता दिया है तो  अपना इंटरनेट खाता  बंद करने के लिए यहाँ क्लिक करे.

"लॉग इन जारी " बटन पर क्लिक करते ही यह माना जाएगा कि आप भारतीय स्टेट बैंक की इंटरनेट बैंकिंग के उपयोग की सेवा शर्तों से सहमत हैं.